Sunday, 25 September 2011

इन्सान भी क्या है


इन्सान भी क्या है
इन्सान भी क्या है
अपनी सोच से
किसी को दोस्त
किसी को दुश्मन बना देता है
दिन भी वही है, समय भी वहि है
पर जबरन
किसी पल को खुशी का
किसी को दुख का बया देता है

No comments:

Post a Comment